आखिर आम जनता प्राइवेट बैंक होने से खुश क्यो है ।। क्या प्राइवेट बैंक सरकारी बैंक से अच्छे होते है ।। - We Bankers

Breaking

We Bankers

Banking Revolution in india

Sunday, February 28, 2021

आखिर आम जनता प्राइवेट बैंक होने से खुश क्यो है ।। क्या प्राइवेट बैंक सरकारी बैंक से अच्छे होते है ।।

आजकल सब की जुबान पर यही चल रहा है, दोस्तो रिस्तेदारो और यहाँ तक कि ससुराल वाले भी बस प्राइवेट बैंक की तारीफ वकालत करते है क्योंकि वहाँ काम बहुत अच्छा होता है, समय बहुत कम लगता है व सभी कर्मचारी अपनी सीट पर मिलते है , बैंक में AC लगा होता है और कुछ प्राइवेट बैंक तो चाय कॉफी भी पिलाते है ।। इसलिए काबिल तो प्राइवेट बैंक ही है सरकारी वाले तो हमेशा कनेक्टिविटी नही है , स्टाफ नही है, कैश नही है ये सब बहाना करते रहते है ।।

उन लोगो के लिए और आपसे ये कहने वालों के लिए मेरे कुछ सवाल है जो उनसे जरूर पूछियेगा ...

1. प्राइवेट बैंक में काम करने वालो ने भी सरकारी बैंक की परीक्षा दी थी पर योग्यता में शायद पीछे रह गए इसलिए वो आज प्राइवेट में है तो बताइए वो सरकारी बैंक वालो से ज्यादा काबिल कैसे हो गए ??

2. सरकारी बैंक एक ग्राहक पर कितना समय लेता है और प्राइवेट बैंक का कर्मचारी कितना समय लेता है एक ग्राहक पर और दिन भर में औसत ग्राहक किसके ज्यादा होते है, एक दिन किसी सरकारी बैंक में कुछ घण्टे बिताने के बाद बताइएगा ।।

3. क्या कोई ऐसी प्राइवेट बैंक भी है जहाँ पर बस 2 आदमी हो और करोड़ो का बिज़नेस हो पर सरकारी में बहुत सी शाखा को मात्र 2 कर्मचारी मिल कर चला रहे हैं ।।

4. क्या प्राइवेट बैंक में कर्मचारियों को जिस शहर के है उस शहर में ना भेजने की प्रतिज्ञा कराई जाती है और क्या जहाँ आबादी भी ना हो वहाँ पर उनकी शाखाये होती है ।।

5 . क्या एक सरकारी बैंक के कर्मचारी को हर महीने ट्रेनिंग कराई जाती है क्या उन्हें लेटेस्ट अपडेट दी जाती है या बस लॉगिन डे बता दिया जाता है चाहे कैसे होगा वो कार्य उसके बारे में कुछ न पता हो ।।

6. क्या ग्राहक की कोई प्रॉब्लम होने पर हाई अथॉरिटी उनकी मदद नहीं करती या कहती है इन्शुरन्स बेचो ये सब काम किसी बगल की शाखा से पूछो ।।

7. क्या प्राइवेट बैंक में इंसेंटिव कर्मचारी को ना मिल कर उनके आकाओ को मिलता है

8. क्या प्राइवेट बैंक में एक कंप्यूटर एक्सपर्ट को NPA रिकवरी के लिए भेजा जाता है

9. क्या प्राइवेट बैंक में किसी कर्मचारी के साथ कोई अभद्रता करता है तो बाकी कर्मचारी मुँह छिपा लेते है और कुछ अभद्रता करने वाले कि FIR भी नही करते हैं ।।

10. प्राइवेट बैंक में पेंशन नही है तो क्या हुआ सरकारी बैंक में NPS को आप पेंशन मानते हो

11. क्या सरकारी बैंक की तरह प्राइवेट बैंक भी सरकार के बिना प्रॉफिट वाले कार्य करते है

12. क्या प्राइवेट बैंक में कनेक्टिविटी की दिक्कत बनी रहती है

13 . क्या प्राइवेट बैंक जीरो बैलेंस में एकाउंट खोलते है, वो तो कम से कम 5000 में एकाउंट खोलते है

14. क्या जनधन, APY, सुकन्या प्राइवेट बैंक खोलते है

15. क्या प्राइवेट बैंक में आदेश देने वाले ज्यादा और शाखाओ में काम करने वाले कम है सरकारी बैंक की तरह

16. क्या प्राइवेट बैंक अपने प्रोडक्ट UPI app का विज्ञापन करने की जगह कर्मचारियों से उसे डाऊनलोड करवाती है और ग्राहकों को जबरदस्ती देने के लिए कहती है

और अंत मे

17. क्या प्राइवेट बैंक के हर कर्मचारी का खाता सरकारी बैंक में नही है ??

जो भी प्राइवेट बैंक से आपकी तुलना करें उनसे इसका उत्तर जरूर लीजियेगा और हमे जरूर बताइएगा ।।

सरकारी बैंक देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ है जिसे संभालना हमारी जिम्मेदारी है ।।