निजीकरण का मूल मंत्र है प्रॉफिट जिसका सबसे आसान तरीका है ग्राहको को दी जाने वाली सर्विसेज के चार्जेज बढ़ा दो - We Bankers

Breaking

We Bankers

Banking Revolution in india

Saturday, February 27, 2021

निजीकरण का मूल मंत्र है प्रॉफिट जिसका सबसे आसान तरीका है ग्राहको को दी जाने वाली सर्विसेज के चार्जेज बढ़ा दो


 अभी हाल ही में scam 1992 webseries आयी थी जिसका बेस्ट क्लिप था 


"ओल्ड स्कूल हो न्यू सबके सिलेबस में एक चीज कॉमन होता है और वो है प्रॉफिट"



इस तरह का व्यापार और इस प्रकार की सोच को विकसित करने वाले आखिर कौन सी यूनिवर्सिटी से आते है ??


ऐसे टॉप ऑथोरिटी पैसे कमाने के नए रास्ते तलाशने की जगह शार्ट कट तरीके अपनाती है जिसमे मुख्यता ग्राहको पर चार्ज बढ़ाना शामिल होता है 


पेट्रोल महंगा हो गया

सड़को पर गाड़ियों की भरमार है

एक गरीब जिसके पास ट्रेन ही एक माध्यम है उसे ये कह कर किराया बढ़ा देना की बिना जरूरत के ये लोग यात्रा करते है इसलिए किराया बढ़ा दो 


अभी तो प्राइवेट की बस ये एक झलक है जहाँ केवल मुनाफा ही कमाना है ।।


बैंकिंग में भी देखिएगा कुछ दिन बाद जब हर चीज में ग्राहको से चार्ज वसूल करेंगे सरकारी बैंक को खरीदने वाले और तर्क देंगे कि बहुत कम खाते में पैसा रखता है इसलिए इसका एकाउंट में ज्यादा चार्ज लगा दो तो ये बेचारी गरीब ग्राहक कहा जाएंगे , जिस मेहनत से बैंककर्मचारियो ने दिन रात एक करके अपने आस पास के सभी लोगो का खाता खोला है वो बेचारे कहा जाएंगे ।।


निजीकरण का मूल मंत्र है फायदा कमाना चाहे छल से हो या कपट से 

इसमे कर्मचारियों के शोषण करके भी प्रॉफिट कमाने का रिवाज बहुत पुराना है 


आज नही कल तो हम गुलाम होने वाले है पर दुनिया उनको याद रखेगी जिन्होंने गुलामी से पहले लोगो को चेताया ।।